राज्य सरकार ने कई छूट के साथ 19 जुलाई तक बढ़ाया लॉकडाउन
Spread the love

कोरोना वायरस से संक्रमण के रोज के आंकड़े अब डराने वाले हैं. आज ही की बात करें तो एक दिन में चार लाख कोरोना के नए मरीज मिले हैं वहीं मौत की संख्या में भी इजाफा हो रहा है. ऐसे समय में एक बार फिर से देश में संपूर्ण लॉकडाउन की चर्चा तेज हो गई है. सोशल मीडिया पर इसको लेकर तरह-तरह की चर्चाएं हो रही हैं, जिसमें फिर से देश में संपूर्ण लॉकडाउन की चर्चा अब जोर पकड़ने लगी है. इसे लेकर कई मैसेज सोशल मीडिया पर वायरल हो रहे हैं. इन मैसेजेज में  पूरे देश में 3 मई से 20 मई के बीच फुल लॉकडाउन लगाने की बात कही जा रही है.

 

ये भी पढ़े-एक और एक्टर का निधन, फिल्म इंडस्ट्री में शोक की लहर

 

देश में 3 मई से 20 मई के बीच फुल लॉकडाउन !

सोशल मीडिया पर एक तस्वीर में पीएम मोदी की फोटो के साथ सूत्रों के हवाले से कहा जा रहा है कि लॉकडाउन की नई गाइडलाइन जारी कर दी गई है और इसमें 3 मई से 20 मई के तक पूरे देश में फुल लॉकडाउन की घोषणा की गई है. मैसेज में इसके साथ ही यह भी कहा जा रहा है कि देश के सभी राज्यों ने संपूर्ण लॉकडाउन को लेकर सहमति जताई है. 3 मई से 20 मई तक पूरे देश में संपूर्ण लॉकडाउन की घोषणा की गई है.

ये भी पढ़े-5000 रुपये सस्ते मिल रहा 12 जीबी रैम वाला 5G का ये शानदार स्मार्टफोन, जानिए कीमत-फ़ीचर्स

 

जानिए वायरल मैसेज के दावे की सच्चाई

इन वायरल हो रहे फिर से संपूर्ण लॉकडाउन लगने की खबर का केंद्र सरकार के लिए तथ्यों की जांच करने वाली पीआईबी फैक्ट चेक टीम(PIBFactCheck) ने संज्ञान लिया और पीआईबी फैक्ट चेक टीम ने इसकी पूरी पड़ताल अपने ट्वीटर हैंडल पर इन दावों के पीछे की सच्चाई के साथ शेयर किया है.

 

पीआईबी फैक्ट चेक टीम ने ट्वीट में लिखा- ‘सोशल मीडिया पर वायरल हो रहे एक पोस्ट में दावा किया जा रहा है कि केंद्र सरकार ने देश में 3 मई से 20 मई तक सम्पूर्ण लॉकडाउन लगाने की घोषणा की है. PIBFactCheck ने कहा कि यह दावा फर्जी है. केंद्र सरकार ने ऐसी कोई घोषणा नहीं की है.’

 

ये भी पढ़े-Govt Job : इस विभाग में 1000 से ज्यादा पदों में निकली भर्ती, वेतन 35400 रुपये प्रति माह

 

पीएम मोदी ने लॉकडाउन को लेकर ये बात कही है

बता दें कि 20 अप्रैल को देश के नाम संबोधन में पीएम मोदी ने इस बात की ओर साफ इशारा किया था कि सरकार कहीं से लॉकडाउन नहीं लगाना चाहती है. पीएम मोदी ने कहा था कि वर्तमान स्थिति में हमें देश को लॉकडाउन से बचाना है. उन्होंने कहा था कि मैं राज्यों से भी अनुरोध करूंगा कि वो लॉकडाउन को अंतिम विकल्प के रूप में ही इस्तेमाल करें. लॉकडाउन से बचने की भरपूर कोशिश करनी है.

 

ये भी पढ़े-शादी के 72 घंटे बाद ही कोरोना से दूल्हे की मौत, सुहागरात के दिन बिगड़ी थी तबीयत, दुल्हन पर टूटा गमों का पहाड़

 

केंद्रीय गृह मंत्रालय ने कही है ये बात….

केंद्रीय गृह मंत्रालय ने राज्य सरकारों और केंद्र शासित प्रदेशों से कहा है कि कोरोना का संक्रमण कम करने के लिए वे पूरे राज्य में लाकडाउन न लगाएं. वे इसके बदले जिलों में और जहां पर दूसरी लहर का असर ज्यादा है, वहां प्रतिबंधात्मक उपाय करें.

By Editor