If there is trouble in breathing, then people lie down under the people for oxygen.
Spread the love

उत्‍तर प्रदेश के शाहजहांपुर के तिलहर में शनिवार को अजब गजब देखने को मिला। यहां चार-पांच लोगों को सांस लेने में जब दिक्कत हुई तो उन्होंने आकसीजन सिलेंडर ढूंढना शुरू किया, लेकिन वह मिला नहीं। किसी ने बता दिया कि पीपल के पेड़ 24 घंटे ऑक्सीजन देते हैं, इसके बाद 5 से मरीज अपने तीमारदारों के साथ तिलहर में गुनगुन मैरिज लॉन वाली रोड पर जाकर एक पीपल के पेड़ के नीचे लेट गए, उन्हें वहां कुछ आराम मिला या नहीं मिला या तो पता नहीं, लेकिन तमाम लोग पीपल के पेड़ के नीचे लेटे मरीजों को देखने के लिए उमड़ पड़े।

ये भी पढ़े-दिशा पाटनी के साथ किसिंग सीन को लेकर सलमान खान का आया रिएक्शन, कहीं ये बात..

 

तिलहर के मोहल्ला बहादुरगंज निवासी कई परिवारों के लोग करीब 3 दिन से फतेहगंज गैसरा जाने वाली सड़क के किनारे लगे पीपल के पेड़ के नीचे दिन रात पड़े हुए हैं। इनकी हालत कई दिन से खराब थी। यह सभी अस्पताल गए, लेकिन एंटीजन जांच में रिपोर्ट निगेटिव आई, लेकिन संक्रमण के सभी लक्षण इन लोगों के अंदर थे। अस्पताल वालों ने रिपोर्ट निगेटिव देखकर भर्ती करने से भी मना कर दिया और घर भेज दिया।

 

ये भी पढ़े-जारी हुआ पेट्रोल-डीजल का भाव, फटाफट चेक करें 1 लीटर तेल का भाव

 

घर में हालत खराब हो गई। ऑक्सीजन सिलेंडर कहीं मिला नहीं। इस बीच किसी ने राय दी कि पीपल के पेड़ के नीचे लेट जाओ तो ऑक्सीजन भरपूर मिलेगी। दो दिन से 5 लोग जहां पीपल के पेड़ के नीचे लेटे हुए हैं, हालांकि उन्होंने यह भी बताया कि उन्हें घर में सांस लेने में ज्यादा दिक्कत थी, लेकिन यहां आराम मिला है।जानकारी मिलने पर तिलहर विधायक रोशनलाल भी पेड़ के नीचे लेटे मरीजों से मिलने के लिए पहुंचे और उन्हें जल्द से जल्द डॉक्टरी सहायता दिलाने के लिए उन्होंने प्रयास शुरू किए हैं।

By Editor