शर्मनाक : महिला को पिता के लिए चाहिए था ऑक्सीजन सिलेंडर, पड़ोसी ने अपने साथ सोने के लिए कह दिया 
Spread the love

आंध्र प्रदेश के अनंतपुर और कुरनूल में ऑक्सीजन की आपूर्ति बंद होने से कोरोना के 16 मरीजों की मौत हो गई। अनंतपुर के सरकारी अस्पताल में जहां 11 मरीजों ने दम तोड़ दिया वहीं कुरनूल के एक निजी अस्पताल में पांच अन्य मरीजों की मौत हो गई। पुलिस ने यहां  के प्रबंध निदेशक को गिरफ्तार किया है।

ये भी पढ़े- आज के लिए पेट्रोल-डीजल का भाव जारी, जानिए आज क्या आपके शहर में भाव

 

अनंतपुर के जॉइंट कलेक्टर निशांत कुमार का कहना है कि अनंतपुर जीजीएच में शुक्रवार को 11 मरीजों की मौत हुई। हालांकि उन्होंने यह नहीं बताया कि मरीजों की मौत के पीछे क्या कारण था। गवर्नमेंट जनरल हॉस्पिटल के डॉक्टरों ने खुद इस बात की पुष्टि की है कि मरीजों की मौत ऑक्सीजन की आपूर्ति में प्रेशर कम होने के कारण हुई है। डॉक्टरों ने बताया, ऑक्सीजन आपूर्ति करने वाले सिस्टम में जो तकनीकी समस्या आई है, उसे चेन्नई से आई टीम ने ठीक कर रही है। इसी तरह कुरनूल के एक निजी अस्पताल में पांच कोरोना मरीजों की मौत हो गई।

 

ये भी पढ़े-Aadhaar : घर बैठे इस तरह 5 साल तक के बच्चे के लिए बनवाएं आधार कार्ड, जानिए तरीका

 

अस्पताल पर नियमों की धज्जियां उड़ाने का आरोप लगा है। आरोप है कि बिना किसी व्यवस्थाओं और सरकार की अनुमति के अस्पताल में कोरोना मरीजों का इलाज चल रहा था। पुलिस ने अस्पताल के प्रबंध निदेशक को गिरफ्तार कर लिया है।

 

वाईएसआरसीपी विधायक अनंत वेंकटरमी रेड्डी ने अनंतपुर जीजीएच का दौरा किया और डॉक्टरों व रोगियों के साथ बातचीत की। उन्होंने मीडिया को बताया अस्पताल प्रबंधन ने कहा कि ऑक्सीजन की आपूर्ति में कोई कमी नहीं है, मृतक के परिजनों ने आरोप लगाया कि मौतें मरीजों को ऑक्सीजन न मिलने के कारण हुई हैं।

 

ये भी पढ़े-लॉकडाउन : कोरोना का कहर, आज से इस राज्य में एक हफ्ते का संपूर्ण लॉकडाउन

 

मप्र: ऑक्सीजन की किल्लत से एक की मौत

बड़वानी जिले के ट्रॉमा सेंटर में शनिवार रात नौ बजे अचानक ऑक्सीजन खत्म हो गई तो वार्ड में भर्ती 43 मरीजों की जान मुश्किल में पड़ गई। परिजनों ने मरीजों को तड़पते देख शोर मचाया तो आनन-फानन में ऑक्सीजन सिलिंडर लगाए गए। जबकि गंभीर मरीजों को आईसीयू में शिफ्ट किया गया है।

 

ये भी पढ़े-पोते को ना हो जाए कोरोना, डर की वजह से संक्रमित दादा-दादी ने की आत्महत्या

 

कालाबाजारी : 4800 का रेमडेसिविर 50 हजार में

कोरोना महामारी के प्रकोप के बीच देश में जीवन रक्षक दवाओं और ऑक्सीजन की कालाबाजारी थमने का नाम नहीं ले रही है। कालाबाजारी करने वालों पर नियंत्रण के सरकारों के दावों के बावजूद 4800 रुपये का रेमडेसिविर इंजेक्शन 50 हजार और ऑक्सीजन सिलिंडर 20 हजार रुपये तक में बेचा रहा है।

 

By Editor