किसानों के खातों में 4000 रुपये आ सकती है अगली किस्त, अभी कर लें रजिस्ट्रेशन
Spread the love

Pradhan Mantri Kisan Maandhan Yojana : केंद्र सरकार किसानों के हित में कई योजनाएं चला रही हैं. इसमें किसान सम्मान निधि योजना के तहत किसानों को सालाना 6000 रुपये दिए जा रहे हैं. लेकिन सरकार की एक योजना ऐसी भी है जिसके तहत किसानों को सालाना 36000 हजार रुपये तक मिल सकते हैं. हम बात कर रहे हैं प्रधानमंत्री किसान मानधन योजना के बारे में, जिसके तहत किसानों को पेंशन के तौर पर सालाना 36000 हजार रुपये तक मिल सकते हैं. आइए जानते हैं कैसे और किन किसानों को इस योजना का फायदा मिल सकता है, साथ ही यह भी जानेंगे कि कैसे आसानी से इसका लाभ लिया जा सकता है…

 

ये भी पढ़े-LPG Cylinder : 809 का गैस सिलेंडर मात्र 9 रुपये में खरीदने का मौका, इस तरह करे बुकिंग, जानिए तरीका

 

क्या है प्रधानमंत्री किसान मानधन योजना?

प्रधानमंत्री किसान मानधन योजना को पीएम किसान पेंशन योजना के नाम से भी जाना जाता है. केंद्र सरकार ने 31 मई 2019 को इस योजना की शुरुआत की थी. केंद्र की नरेंद्र मोदी सरकार द्वारा इस योजना की शुरुआत देश के छोटे और सीमांत किसानों की मदद के लिए किया गया है. यह एक पेंशन योजना है जिसके तहत 60 वर्ष की आयु के बाद हर महीने 3000 रुपये यानी 36000 रुपये सालाना पेंशन के रूप में दिए जाएंगे.

 

किसे मिलेगा प्रधानमंत्री किसान मानधन योजना का लाभ?

– छोटे और सीमांत किसान जिसकी आयु 18 से 40 वर्ष के बीच हो और…

 – जिसके पास 2 हेक्टेयर या इससे कम की कृषि योग्य जमीन हो.

 

ये भी पढ़े-महेंद्र सिंह धोनी के घर आया नया मेहमान, पत्नी साक्षी ने शेयर किया ये प्यारा VIDEO, देखें

 

किसान पेंशन योजना 2021 के लिए जरूरी दस्तावेज..

. – आधार कार्ड – पहचान पत्र

– आयु प्रमाण पत्र – आय प्रमाण पत्र

 – खेत की खसरा खतौनी

 – बैंक खाते की पासबुक

– मोबाइल नंबर – पासपोर्ट साइज फोटो

 

कैसे मिलेगा प्रधानमंत्री किसान मानधन योजना का लाभ, क्या है रजिस्ट्रेशन का तरीका?

 

  • इस योजना के लाभ के लिए कॉमन सर्विस सेंटर (CSC) पर जाकर रजिस्ट्रेशन करवा सकते हैं. हालांकि इसके लिए खुद भी रजिस्ट्रेशन कर सकते हैं. रजिस्ट्रेशन करते समय सभी दस्तावेज साथ रखना होगा.
  • सबसे पहले आपको योजना की आधिकारिक वेबसाइट (maandhan.in) पर जाना होगा.
  • वेबसाइट पर जाने के बाद लॉगिन (maandhan.in/auth/login) करने के लिए पेज पर दिख रहे क्लिक हेयर टू अप्लाई नाव के ऑप्शन पर क्लिक करना होगा.
  • लॉग इन के दौरान आवेदक को अपना फोन नंबर भरना होगा.
  • इसके अलावा मांगी गई अन्य जानकारी जैसे नाम, पता, मोबाइल नंबर, कैप्चा कोड आदि डालना होगा.
  • इसके बाद जनरेट OTP पर क्लिक करना होगा. जिसके बाद आपके मोबाइल नंबर पर एक OTP आएगा जिसे भरने के बाद एक आवेदन फॉर्म आपके सामने दिखेगा.
  • इस फॉर्म में मांगी गई जानकारी को भरना और सब्मिट कर होगा. सब्मिट करने के बाद आवेदन फॉर्म का प्रिंटआउट निकलकर रख सकते हैं ताकि आने वाले टाइम में उसका इस्तेमाल आसानी से कर सकें.

ये भी पढ़े-कोरोना से दूल्हे की मौत, शादी की खुशियां मातम में बदलीं, अभी हाथों से मेहंदी भी नहीं छूटी थी कि मिल गया जिंदगी भर का गम

 

कितना मिलेगा लाभ?

किसान पेंशन योजना के नियमों के अनुसार अगर कोई किसान (जिसके पास 2 हेक्टेयर या इससे कम की कृषि योग्य जमीन है) 18 वर्ष का है तो उसे हर महीने 55 रुपये या सालाना 660 रुपये जमा करने होंगे. इसके बाद उसके 60 साल की आयु पूरा कर लेने के बाद उसे हर महीने 3000 रुपये का पेंशन मिलेगा. सरकार द्वारा हर उम्र के किसानों के लिए हर महीने और सालाना तौर पर जमा की जाने वाली रकम तय की गई है. यानी आप 25 साल के हैं तो आपको इस योजना के तहत कितना पैसा जमा करना होगा इसकी जानकारी दी गई है. खास बात ये है कि इस योजना में आप जितना पैसा जमा करेंगे सरकार भी उतना पैसा जमा करेगी.

 

ये भी पढ़े-Corona virus : देश में नहीं थम रहा कोरोना संक्रमण, बीते 24 में 4 लाख 14 हजार मरीज, इतने लोगों की हुई मौत

 

बीच में छोड़ने या लाभार्थी की मौत होने पर पैसे का क्या होगा?

अगर लाभार्थी बीच में ही इस योजना को छोड़ देता है या पैसे जमा करना बंद कर देता है तब भी उसके तब तक जमा किए गए पैसे सुरक्षित रहेंगे. जमा किए गए पैसों पर सेविंग अकाउंट पर मिलने वाले ब्याज के बराबर ब्याज मिलेगा. अगर पॉलिसी होल्डर किसान की मौत हो गई, तो उसकी पत्नी को 50 फीसदी रकम मिलती रहेगी.

By Editor