रहस्यमयी बुखार से एक ही गांव के 8 बच्चों की मौत, मचा हड़कंप
Spread the love

नोएडा – कोरोना महामारी की वजह से कैसी-कैसी विपत्ति लोगों को झेलनी पड़ रही हैं, इसकी उम्मीद किसी को नहीं थी।  महामारी  के चलते हजारों लोगों की जान जा रही है. मौतों के इस बढ़ते आंकड़ों के बीच कई हंसते खेलते परिवार तबाह हो गए. मूलरूप से चेन्नई के रहने वाले रामलिंगम के परिवार पर महामारी की ऐसी आफत आई जिसकी किसी को उम्मीद नहीं थी. पिछले महीने बेटी की मौत हो गई. इस महीने की शुरुआत में पिता  की मौत हो गई. कुछ ही दिनों में उनकी पत्नी भी चल बसीं.

 

ये भी पढ़े-शर्मनाक : महिला को पिता के लिए चाहिए था ऑक्सीजन सिलेंडर, पड़ोसी ने अपने साथ सोने के लिए कह दिया

 

बेटी के बाद पिता की भी मौत

नोएडा सेक्टर-49 में रहने वाले शख्स मूलरूप से चेन्नई के रहने वाले थे. पिछले महीने इनकी बेटी कोरोना वायरस  से संक्रमित हो गई. इलाज के लिए एक प्राइवेट अस्पताल में भर्ती कराया गया, जहां 20 अप्रैल को उसकी मौत हो गई. इसके बाद शख्स भी कोरोना संक्रमित हो गए. उन्हें भी अस्पताल में भर्ती कराया गया, जहां मई की शुरुआत में ही उनकी भी मौत हो गई.

 

ये भी पढ़े-Lockdown News : छत्तीसगढ़ के इस जिले में 24 मई तक बढ़ा लॉकडाउन, जारी हुआ आदेश

 

कंधा देने वाला भी नहीं बचा

कोरोना का कहर इस परिवार पर यहीं नहीं थमा. बेटी और पति की मौत के सदमे से उबर पातीं उससे पहले ही शख्स  की पत्नी भी कोरोना संक्रमित हो गईं. बुधवार को वे भी दुनिया छोड़कर चली गईं. इस बार हालात और भयावह थे, महिला  को कंधा देने वाला उनके परिवार का कोई नहीं बचा. दुनिया से विदा लेते समय उन्हें अपनों का कंधा तक नसीब नहीं हुआ.

 

ये भी पढ़े-पूर्व विधायक का कोरोना से निधन, सीएम ने जताया शोक

 

RWA अध्यक्ष ने कराया अंतिम संस्कार

महिला का  अंतिम समय पर कोई परिवारीजन न होने के बाद उनका शव एंबुलेंस से सेक्टर-94 स्थित श्मशान घाट आया. यहां सेक्टर-33 RWA अध्यक्ष ने अपने साथी की मदद से सीएनजी मशीन के जरिए महिला  का अंतिम संस्कार कराया.

By Editor