प्यार का साथ देने पड़ा महंगा, दो भाइयों पर लगा 34 लाख का जुर्माना, जाने पूरा मामला
Spread the love

उत्तर प्रदेश – शादी में खर्च के चलते कर्ज के बोझ से लोग न दबें यह संदेश देने के लिए कलान के पटना देवकली मंदिर में सिर्फ 20 मिनट में शादी कराई गई। महंत के आशीर्वाद के साथ वर-वधु ने मंदिर में फेरे लिए। दूल्हे ने दहेज में सिर्फ रामायण स्वीकार की। दोनों ओर से विवाह में केवल कुछ रिश्तेदार ही शामिल हुए। 

 

ये भी पढ़े-मुख्यमंत्री ममता बनर्जी के छोटे भाई का कोरोना से निधन, उपचार के दौरान तोडा दम

 

कलान के सनाय गांव में रहने वाले पुष्पेंद्र दुबे एक स्कूल चलाते हैं। उनका विवाह हरदोई के केशवपुर गांव की प्रीति से तय हुआ था। खर्च रहित विवाह का समाज को संदेश देने के लिए पुष्पेंद्र ने ससुरालीजनों को पहले ही कह रखा था कि वह दहेज में सिर्फ रामायण की प्रति स्वीकार करेंगे। विवाह भी बगैर किसी तामझाम के मंदिर में होगा। ससुरालियों ने होने वाले दामाद की मांग सहर्ष स्वीकार कर ली। 

 

ये भी पढ़े-RAIPUR लॉकडाउन : रायपुर समेत इन 2 जिलों में 31 मई तक बढ़ा लॉकडाउन, जानिए क्या खुले और क्या रहेंगे बंद

 

13 मई को पुष्पेंद्र और प्रीति का विवाह कलान के पटना देवकली स्थित  ऐतिहासिक शिव मंदिर में संपन्न हुआ। महंत अखिलेश गिरी ने दोनों का विवाह कराया। इस दौरान नवदंपति ने मंदिर में सात फेरे लेकर सात जन्मों तक साथ निभाने का वचन एक-दूसरे को दिया।  शादी के बाद पुष्पेंद्र ने कहा कि विवाह में सिर्फ दिखावे के नाम पर खर्च करने में लोग कर्ज से दब जाते हैं। गैरजरूरी दिखावे से बाहर आना जरूरी है।

By Editor