अंतिम संस्कार के 9 दिन बाद जिंदा लौटा शख्स, भूत समझकर भागा बेटा
Spread the love

मध्यप्रदेश के इंदौर में कोरोना से संक्रमित होने के 32 दिनों के भीतर चार लोगों के परिवार में से तीन की मौत हो गई। यह हंसता-खेलता परिवार सास-ससुर और बेटा-बहू का था, जिसमें बहू को छोड़कर सभी सदस्यों ने दुनिया को अलविदा कह दिया।  

 

ये भी पढ़े-मेहंदी-हल्दी लगाकर तैयार बैठी थी दुल्हन, लेकिन दूल्हे ने एक वीडियो की वजह से तोड़ दी शादी, जाने पूरा मामला

 

महिला की शादी 1 महीने पहले ही हुई थी

इंदौर के इंद्रलोक कॉलोनी में रहने वाली महिला की शादी 11 महीने पहले  हुई थी। परिवार में दोनों के अलावा सास  और ससुर  थे। पिछले माह परिवार के दो सदस्य एक कार्यक्रम में शामिल हुए थे। उसके कुछ दिन बाद सास कोरोना पॉजिटिव पाई गईं। उन्हें हॉस्पिटल में भर्ती कराया गया, लेकिन वह बच न सकीं। सास के निधन के कुछ दिन बाद पहले ससुर  और उनका पति की भी तबीयत खराब हुई और बारी-बारी से दोनों ने दुनिया को अलविदा  कह दिया। अब पूरे परिवार में केवल बहू बची हैं। 

 

ये भी पढ़े-नौकरी छोड़ मरे हुए लोगों का मेकअप करती है ये महिला, बोली, मेरा मकसद, शान के साथ करूं दुनिया से विदा

 

पति  निजी यूनिवर्सिटी में असिस्टेंट रजिस्ट्रार थे जबकि उनकी मां शहर की प्रमुख शिक्षाविदों में शामिल थीं। वह उज्जैन और जबलपुर यूनिवर्सिटी में कार्यपरिषद की सदस्य होने के अलावा एक अच्छी पायलट भी थीं। ससुर इंदौर की ही एक प्रमुख एडवरटाइजिंग एजेंसी से जुड़े थे।

 

ये भी पढ़े-सिर्फ 42 हजार रुपये में बेहतरीन Bajaj Avenger 220 खरीदने का मौका, जानिए कहां और कैसे ले?

 

राज्य में 7 हजार से अधिक नए कोरोना के मरीज मिले

मध्यप्रदेश में रविवार को कोरोना वायरस से संक्रमित 7,106 नए मरीज मिले हैं। करीब 12,345 मरीज स्वस्थ हुए हैं। मरीजों के ठीक होने की दर आज 86.10 प्रतिशत रही। मख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने रविवार को ही आपदा प्रबंधन समूह की बैठक के बाद ग्वालियर-मुरैना-चंबल संभागों में जनता कर्फ्यू को 30 मई तक बढ़ाने की घोषणा कर दी। वहीं, इंदौर में भी जनता कर्फ्यू को 30 मई तक बढ़ा दिया गया है।

By Editor