शादी के दो दिन पहले हुई दूल्हे की मौत, मातम में बदली खुशियां
Spread the love

ओडिशा के केंद्रपाड़ा जिले में 26 वर्ष के उस व्यक्ति की कोविड​​-19 के कारण मौत हो गई जिसकी शादी पांच दिन पहले हुई थी. इसके बाद अधिकारी विवाह समारोह में उपस्थित लोगों की जांच करवा रहे हैं क्योंकि इससे कई लोगों में संक्रमण फैलने की आशंका उत्पन्न हो गई है. राजकनिका थाना क्षेत्र के दुर्गादेवीपाड़ा गांव के रहने वाले युवक  की शादी 10 मई को हुई थी. युवक अपनी शादी के लिए बेंगलुरु से आए थे और उनमें बुखार जैसे लक्षण आए और 13 मई को जांच में कोविड-19 से संक्रमित पाये गए.

 

ये भी पढ़े –भारत में लॉन्च हुई Aprilia SXR 125 मैक्सी-स्कूटर, शानदार है इसके फीचर्स, मात्र 5000 रुपए में हो सकती है बुकिंग

 

रजकनिका के सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र (सीएचसी) के चिकित्सा अधिकारी ने बताया कि शुरुआत में, वह घर में पृथकवास में था लेकिन हालत बिगड़ने के बाद उसे भुवनेश्वर के एक निजी अस्पताल में भर्ती कराया गया, जहाँ उसने 15 मई को संक्रमण के कारण दम तोड़ दिया. रविवार को एक मेडिकल टीम दुर्गादेवीपाड़ा गांव पहुंची और दुल्हन सहित परिवार के अन्य सदस्यों के नमूने लिये. शादी में कितने लोग शामिल हुए और उनके संपर्क में आये व्यक्तियों का पता लगाने के लिए जांच की जा रही है.

 

ये भी पढ़े – 8वीं, 10वीं और 12वीं पास युवाओं के लिए सेना में नौकरी का मौका, नहीं देने होगी कोई परीक्षा, आवेदन प्रक्रिया शुरू

 

 

ओडिशा और पुरी में कोविड-19 के मामलों में बढ़ोतरी को देखते हुए भगवान जगन्नाथ मंदिर के अधिकारियों ने रविवार को घोषणा की कि 12वीं सदी का यह मंदिर 15 जून तक श्रद्धालुओं के लिए बंद रहेगा. ओडिशा सरकार द्वारा राज्य में लॉकडाउन लगाए जाने के बाद पांच मई से ही यह विश्व प्रसिद्ध मंदिर बंद है.  श्री जगन्नाथ मंदिर प्रशासन (एसजेटीए) ने एसजेटीए के प्रशासक डॉ. कृष्ण कुमार की अध्यक्षता में हुई समीक्षा बैठक में मंदिर को 15 जून तक बंद रखने का निर्णय किया. बैठक में पुरी के जिलाधिकारी समर्थ वर्मा भी मौजूद थे. बैठक में परिस्थतियों को ध्यान में रखते हुए समय-समय पर मानक संचालन प्रक्रिया की समीक्षा करने का भी निर्णय किया गया. 

By Editor