सोने की कीमत में आई गिरावट, सस्ती हुई चांदी, जानिए आज का ताजा भाव
Spread the love

 भारतीय बाजारों में आज सोने और चांदी की वायदा कीमत में गिरावट आई। एमसीएक्स पर सोना वायदा 0.32 फीसदी गिरकर 48,520 रुपये प्रति 10 ग्राम पर पहुंच गया, जबकि चांदी वायदा 0.4 फीसदी गिरकर 72073 रुपये प्रति किलोग्राम पर पहुंच गई। चांदी में लगातार तीन दिनों से गिरावट देखी जा रही है। पिछले सत्र में सोना तीन माह के उच्चतम स्तर पर, 48700 रुपये प्रति 10 ग्राम पर पहुंच गया था।

 

ये भी पढ़े-यहां टीका लगवाने के बाद मुफ्त में दी जा रही बियर, ऑफर मिलते ही लगी कतारें

 

वैश्विक बाजार में इतनी है कीमत

अंतरराष्ट्रीय बाजारों में सोना 1,869.50 डॉलर प्रति औंस पर सपाट कारोबार कर रहा था। बुधवार को सोना करीब चार माह के उच्चतम स्तर पर, 1,889.75 डॉलर प्रति औंस पर पहुंच गया था। अन्य कीमती धातुओं में चांदी 0.3 फीसदी गिरकर 27.66 डॉलर प्रति औंस पर थी। प्लैटिनम 0.2 फीसदी ऊपर 1193.32 डॉलर पर रहा।

 

ये भी पढ़े-Corona In India : देश में पिछले 24 घंटों में 2,76,070 नए कोरोना के मामले, मरने वालों की संख्या घटी

 

कमजोर निवेशक रुचि को दर्शाता है ईटीएफ का प्रवाह 

दुनिया की सबसे बड़ी गोल्ड समर्थित एक्सचेंज ट्रेडेड फंड या गोल्ड ईटीएफ, एसपीडीआर गोल्ड ट्रस्ट की होल्डिंग्स मंगलवार के 1,035.93 टन के मुकाबले बुधवार को 0.5 फीसदी गिरकर 1,031.27 टन हो गई। स्वर्ण ईटीएफ सोने की कीमत पर आधारित होते हैं और उसके दाम में आने वाली घट-बढ़ पर ही इसका दाम भी घटता बढ़ता है। मालूम हो कि ईटीएफ का प्रवाह सोने में कमजोर निवेशक रुचि को दर्शाता है। एक मजबूत डॉलर अन्य मुद्राओं के धारकों के लिए सोने को अधिक महंगा बनाता है।

 

सस्ते में सोना खरीदने का मौका

सरकार ने जनता को सस्ती दरों पर सोना खरीदने का मौका दिया है। निवेशक सॉवरेन गोल्ड बॉन्ड (Sovereign Gold Bond) योजना के तहत बाजार मूल्य से काफी कम दाम में सोना खरीद सकते हैं। यह योजना सिर्फ पांच दिन के लिए (17 मई से 21 मई तक) खुली है। योजना के तहत आप 4,777 रुपये प्रति ग्राम पर सोना खरीद सकते हैं। यानी अगर आप 10 ग्राम सोने खरीदते है तो उसकी कीमत 47,770 रुपये बैठती है।

 

ये भी पढ़े-जारी हुआ पेट्रोल डीजल का दाम, जानिए आज क्या है आपके शहर में 1 लीटर तेल का भाव

 

गोल्ड बॉन्ड की खरीद ऑनलाइन तरीके से की जाती है तो निवेशकों को 50 रुपये प्रति ग्राम की अतिरिक्त छूट मिलेगी। गोल्ड बॉन्ड की परिपक्वता अवधि आठ साल की होती है और इस पर सालाना 2.5 फीसदी का ब्याज मिलता है। बॉन्ड पर मिलने वाला ब्याज निवेशक के टैक्स स्लैब के अनुरूप कर योग्य होता है, लेकिन इस पर स्रोत पर कर कटौती (टीडीएस) नहीं होती है।

By Editor