कोरोना टेस्ट के लिए कहीं जाने की जरूरत नहीं, अब घर बैठे कर सकेंगे कोरोना की जांच, ICMR ने दी कोविड होम टेस्टिंग किट को मंजूरी
Spread the love

कोरोना कहर के बीच देश में मेडिकल रिसर्च की अग्रणी संस्था ICMR ने अब कोरोना जांच के लिए नई गाइडलाइन जारी की है. नई गाइडलानइ के मुताबिक कोरोना की जांच अब लोग घर में भी कर सकेंगे. रैपिड एंटीजन टेस्ट के लिए एक टेस्ट किट को ICMR की मंजूरी मिल गई है. एंटीजन की रिपोर्ट तुरंत मिल जाती है, तो वहीं RTPCR जांच की रिपोर्ट 24 घंटे में आती है.

ये भी पढ़े-LIC का शानदार प्लान : महज 150 रुपए की निवेश कर अपने बच्चे को बनाएं लखपति, जानिए कैसे?

 

घर बैठे कर सकेंगे कोरोना की जांच

होम बेस्ट टेस्टिंग किट से जांच में तेजी आएगी, साथ ही घर बैठे लोग कोरोना की जांच कर सकते हैं. इस किट का प्रयोग कोरोना के हल्के लक्षण या संक्रमित व्यक्कि के संपर्क में आए हुए लोग कर सकते हैं. होम बेस्ट टेस्टिंग किट से ज्यादा टेस्ट न करने की भी सलाह दी गई है.

 

ये भी पढ़े-आज का मौसम : चक्रवात टाउते का असर, आज भी इन राज्यों में भारी बारिश का अनुमान

 

नाक के जरिए ले सकेंगे कोरोना सैंपल

इस किट के जरिए लोग घर में ही नाक के जरिए कोरोना सैंपल ले सकेंगे. इस किट का नाम COVISELF (Pathocatch) है. फिलहाल भारत में केवल एक कंपनी को इसकी मंजूरी दी गई है, जिसका नाम Mylab Discovery Solutions Ltd (मायलैब डिस्कवरी सॉल्यूशंस लिमिटेड) है. होम टेस्टिंग कम्पनी के सुझाए मैन्युअल के तौर तरीके से होगी.

 

मोबाइल ऐप के जरिए मिलेगी पॉजिटिव और निगेटिव रिपोर्ट

होम टेस्टिंग के लिए गूगल प्ले स्टोर और ऐपल स्टोर से मोबाइल ऐप डाउनलोड करना होगा. इसे सभी यूजर्स डाउनलोड कर सकते हैं. इस ऐप का नाम माईलैब कोविससेल्फ (Mylab Covisself) है. मोबाइल ऐप के ज़रिए पॉजिटिव और निगेटिव रिपोर्ट मिलेगी. जो लोग होम टेस्टिंग करेंगे उन्हें टेस्ट strip पिक्चर खींचना पड़ेगा और उसी फोन से तस्वीर लेनी होगी जिस पर मोबाइल ऐप डाउनलोड होगा. मोबाइल फोन का डाटा सीधे ICMR के टेस्टिंग पोर्टल पर स्टोर हो जाएगा. मरीज की गोपनीयता बरकरार रहेगी.

 

ये भी पढ़े-Railway Job : रेलवे में 10वीं पास के लिए 3,591 पदों पर वैकेंसी, बिना परीक्षा मिलेगी नौकरी , जाने डिटेल

 

ये भी हैं नियम

इस टेस्ट के जरिए जिनकी पॉजिटिव रिपोर्ट आएगी उन्हें पॉजिटिव माना जायेगा और किसी टेस्ट की जरूरत नही पड़ेगी. जो लोग पॉजिटिव होंगे उन्हें होम आइसोलेशन को लेकर ICMR और हेल्थ मिनिस्ट्री की गाइडलाइन को मानना होगा. लक्षण वाले जिन मरीजों का रिजल्ट निगेटिव आएगा उनको RTPCR करवाना होगा. सभी रैपिड एंटीजन निगेटिव सिम्प्टोमेटिक लोगों को सस्पेक्टेड कोविड केस माना जायेगा और जब तक RTPCR का रिजल्ट नही आ जाता तब तक उन्हें होम आईओलेशन में रहना होगा.

By Editor